Chankya Niti

Chanakya Niti:महिला हो या पुरुष इस एक चीज से कभी न करें समझौता,जीना हो जाएगा कठिन

आत्मसम्मान मनुष्य की पूंजी है, जिसे वह मरते दम तक संजोकर रखता है।चाणक्य कहते हैं कि किसी के सामने उतना ही झुकें, जितना आत्मसम्मान को ठेस न पहुंचे।

Chanakya Niti: चाणक्य ने अपने जीवन का हर लक्ष्य एक सटीक योजना के साथ पूरा किया। उनकी नीतियों ने कई लोगों का जीवन बदल दिया। चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति के कर्म ही उसकी सफलता और विफलता का आधार होते हैं। इज्जत कमाने में सालों लग जाते हैं, लेकिन एक गलती इंसान को धूल में मिला सकती है।

चाणक्य ने बताया है कि ऐसी कौन सी चीज है जिससे कभी समझौता नहीं करना चाहिए, चाहे स्थिति कितनी भी खराब क्यों न हो, अगर आपने इस एक चीज को दांव पर लगा दिया तो आप रिश्ते-नाते, सम्मान सब कुछ खो देंगे। वर्षों की मेहनत से अर्जित सम्मान जीवन भर के लिए धूमिल हो जाएगा।

आत्मसम्मान मनुष्य की पूंजी है, जिसे वह मरते दम तक संजोकर रखता है।चाणक्य कहते हैं कि किसी के सामने उतना ही झुकें, जितना आत्मसम्मान को ठेस न पहुंचे। अगर आप अपना अस्तित्व दांव पर लगाएंगे तो आपकी छवि पर ऐसा दाग लगेगा जो मिट नहीं पाएगा।

चाणक्य कहते हैं कि जो मनुष्य अपनी मर्यादा में रहता है, उससे दुख कोसों दूर रहते हैं। आत्मसम्मान से समझौता करके जीवन जीना सदैव कष्टकारी होता है। जब कोई मनुष्य मानसिक, शारीरिक और आर्थिक रूप से कमजोर होता है तो अक्सर उसके आत्मसम्मान से समझौता हो जाता है। यदि आप अपना आत्मसम्मान ऊंचा रखना चाहते हैं तो आपको इन तीनों पर आत्मनिर्भर होना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button